श्री विजय राठौर

जन्म – 15 मार्च 1950, जांजगीर्

 

शिक्षा- बी.एस.सी.- मत्स्य विज्ञान

 

प्रकाशन-प्रसारण्- अंजुरी भरी धूप (1993), ऐसे समय में (2000),मेरा और तुम्हारा चांद (2001) , हमें एक ईश्वर चाहिये (2003) , प्यासी लहरें (2005), स्मृतियों के दीप (2007), वैदेही ( 2009), जैसी दुनिया वैसा हूँ (2010), इत्यादि के पहले (2010)/ देश भारत की साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन एवं आकाशवाणी से सतत प्रसारण //

 

अन्य प्रकाशन – मीठे जल में मछ्ली पालन (2002)

 

              मछ्ली पालन आय का उत्तम साधन (2004)

 

संपादन – ‘ पूरी रंगत के साथ ‘ (छत्तीसगढ के प्रतिनिधि कवि)

 

           जाज़्वळ्या 2002,2003,2004, स्मारिका ( पं जगदीश चंद तिवारी), स्मारिका (ठा. छेदीलाल बैरिस्टर ) का संपादन

 

सम्मान- रष्ट्रीय हिंदी सेवी सह्स्त्राब्दी सम्मान, दिल्ली-2000, जैमिनी अकादमी पानीपत से पद्म्श्री लक्ष्मीनारायण दुबे स्मृति सम्मान , म.प्र. लेखक संघ बैतुल द्वारा लेखक श्री सम्मान, अभियान जबलपुर द्वारा हिन्दीभूषण अलंकरण -2003 , साहित्य श्री सम्मान-2004, सुभद्रा कुमारी चौहान जन्म शताब्दी सम्मान -2004,’ शाने-ए-अदब’ सम्मान . फ्रेण्डशिप फोरम ऑफ इंडिया द्वारा सम्मान 2006 , भारतेन्दु राष्ट्रभाषा साहित्य शिरोमणि सम्मान -2007

 

सम्पर्क – गट्टानी कन्या उ.मा.शाला के सामने, जांजगीर

 

           जिला: जांजगीर-चाम्पा (छत्तीसगढ)

 

           मो.: 9826115660

 

E-mail :       kvijayrathore @rediffmail.com

 

Saturday the 21st. Affiliate Marketing. © janjgirlive.com
Copyright 2012

©